* * * पटना के पैरा-मेडिकल संस्थान नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ एजुकेशन एंड रिसर्च जयपुर कें निम्स यूनिवर्सिटी द्वारा अधिकृत कएल गेल। *

Wednesday 10 February 2010

डीयू में एडमिशन लेल 13 आ 20 फरवरी कें शिक्षक प्रशिक्षण

शिक्षक कें आरक्षण संबंधी जानकारी देबाक लेल आ छात्रक मार्गदर्शन हेतु प्रस्तावित प्रशिक्षण देया आजुक दैनिक भास्कर केर दिल्ली संस्करण में प्रकाशित रिपोर्टः
दिल्ली विश्वविद्यालय के शिष्य अब दिल्ली-एनसीआर के स्कूलों में पढ़ाने वाले गुरुओं की क्लास लेंगे। विश्वविद्यालय के ये नन्हें गुरु न सिर्फ स्कूली शिक्षकों को विश्वविद्यालय में लागू कोटे का गणित समझाएंगे बल्कि सत्र 2010-11 की दाखिला प्रक्रिया से जुड़ी तमाम न्रई-पुरानी पेचिदगियों से अवगत कराएंगे। स्कूली शिक्षकों को यह ट्रेनिंग आगामी दाखिला सत्र के दौरान स्कूली छात्रों तक तमाम जानकारियों को समय रहते पहुंचाने के उद्देश्य से दी जाएगी। विश्वविद्यालय के डीन (छात्र कल्याण) प्रो. एसके विज ने बताया कि इस कार्यक्रम के तहत आगामी 13 व 20 फरवरी को दिल्ली के कई स्कूली शिक्षकों व प्रिंसिपलों को विश्वविद्यालय आमंत्रित किया गया है। क्लास रूम के तौर पर विश्वविद्यालय कुलपति कार्यालय के वाइस रीगल हॉल को चुना गया है जहां डीयू के छात्र ई-प्रस्तुतीकरण के माध्यम से उन्हें बताएंगे कि डीयू में दाखिले के दौरान बारहवीं के कौन-से विषय विज्ञान पाठच्यक्रमों में मान्य होते हैं और कौन-से आर्ट्स में।इसके अलावा उन्हें बताया जाएगा कि ओपन डेज सेशन का क्या महत्व होता है ताकि वह बच्चों को विश्वविद्यालय के इस आयोजन में शामिल होने के लिए प्रेरित करें। डिप्टी डीन छात्र कल्याण डॉ. गुरप्रीत सिंह टुटेजा ने बताया कि विश्वविद्यालय की ओर से यह प्रयास दाखिला प्रक्रिया की जानकारी ज्यादा से ज्यादा छात्रों तक पहुंचाने के लिए अंजाम दी जा रही है। उन्होंने बताया कि इस प्रयास के जरिये हम स्कूल प्रिंसिपल व वरिष्ठ शिक्षकों को दाखिला प्रक्रिया की जानकारी देंगे ताकि वह उसे अपने छात्रों तक समय रहते पहुंचाए। डॉ. टुटेजा ने बताया कि इस माध्यम से उम्मीद है कि आगामी दाखिला प्रक्रिया में दाखिले के लिए डीयू पहुंचने वाले छात्र-छात्राओं को खासी सहूलियत होगी।

दसवीं के छात्रों को भी होगा फायदा : स्कूली शिक्षकों को डीयू की दाखिला प्रक्रिया की जानकारी देने के पीछे जहां विश्वविद्यालय प्रशासन की कोशिश बारहवीं में पास होकर विश्विद्यालय पहुंचने वाले छात्रों को दाखिला प्रक्रिया की जानकारी देना है वहीं उनकी नजर दसवीं के छात्रों पर भी है। डिप्टी डीन डॉ. टुटेजा ने बताया कि विशेष ट्रेनिंग सेशन के जरिए वह स्कूली शिक्षकों को डीयू की दाखिला प्रक्रिया की उन बारीकियों को समझाएंगे जिनके माध्यम से वह दसवीं पास करने वाले उन छात्रों स्ट्रीम व विषय चयन में मार्गदर्शन कर पायेंगे जो भविष्य में डीयू का रुख करने वाले हैं। उन्होंने बताया कि हर साल इसी ज्ञान के अभाव में सैकड़ों बच्चे कटऑफ की रेस में पिछड़ जाते हैं और दाखिले से महरूम रहते हैं।

No comments:

Post a Comment